yogi-govt-formed-special-security-force-pic

योगी सरकार ने बनाई स्पेशल सिक्युरिटी फोर्स, बिना वारंट के करेगी तलाशी

खबरों का विश्लेषण

स्पेशल सिक्युरिटी फोर्स, जी हाँ यह नाम है उस नई फाॅर्स का जो योगी सरकार ने बिना वारेंट के तलाशी करने लिए बनाई हैं. उत्तर प्रदेश में गुंडों का सफाया पिछले कुछ सालों में किस स्तर पर हुआ हैं, वो आप सब देख ही चुके हैं. फिर भी कई बार पुलिस के पास जानकारी होने के बावजूद कुछ गुंडे खुद को बचा लेते थे.

इसका सबसे पहला मुख्य कारण था, वारेंट का जारी होना. शायद आपको पता न हो लेकिन एक वारेंट जारी करवाना पुलिस के लिए आसान नहीं होता. ऐसे में वारेंट जारी होने के बाद कई लोगों को इस बात की पहले ही जानकारी होती है की पुलिस किसके घर तलाशी लेने वाली हैं. यह जानकारी उस समय ज्यादा खतरनाक हो जाती हैं, जब कोई उस गुंडे का खबरी होता हैं.

इसीलिए उत्तर प्रदेश सरकार ने इसका हल निकालने के लिए एक नई फाॅर्स ‘स्पेशल सिक्युरिटी फोर्स’ का गठन कर दिया हैं. स्पेशल सिक्युरिटी फोर्स का मुखिया एडीजी के लेवल का अधिकारी होगा. इस स्पेशल सिक्युरिटी फोर्स के हवाले ही अब महत्वपूर्ण सरकारी इमारतों, दफ्तरों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों की सुरक्षा होगी. इसके इलावा अगर कोई प्राइवेट कंपनी इस स्पेशल सिक्युरिटी फोर्स की सुरक्षा लेना चाहती है तो वह कुछ पेमेंट देकर ले सकती हैं.

लेकिन इस स्पेशल सिक्युरिटी फोर्स का सबसे एहम काम यही होगा की वह प्रदेश में उस व्यक्ति की सम्पति या फिर उस व्यक्ति के ठिकानों पर बिना वारेंट के छापा मारकर तलाशी कर सकती हैं. जिस व्यक्ति के ऊपर आपराधिक रिकॉर्ड दर्ज़ हों या फिर कुछ एहम जानकारियां पुलिस को मिली हों.

ऐसे में यह स्पेशल सिक्युरिटी फोर्स वारेंट इशू करवाने में लगने वाले समय को बचाएगी और ज्यादा लोगों के पास जानकारी पहुंचने के पहले ही तलाशी लेने के लिए पहुँच जाएगी. जिस वजह से अपराधी के आपस भागने, सबूत मिटाने या जगह को साफ़ करने का समय नहीं बचेगा और अपराधी को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ मुक़दमा चलाया जा सकेगा.

Spread the love
  • 12.7K
    Shares
  • 12.7K
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *