no-cbi-probe-in-sushant-singh-rajput-death-pic

आदित्य ठाकरे ने ठुकराई सुशांत सिंह राजपूत पर CBI जाँच की मांग

खबरों का विश्लेषण

इस वक़्त बड़ी खबर आ रही हैं, बताया जा रहा है आदित्य ठाकरे के साथ महाराष्ट्र पुलिस की मुलाक़ात के बाद सुशांत सिंह राजपूत के केस को CBI को सौंपने से साफ़ इंकार कर दिया गया हैं. दरअसल मीडिया में खबरें चल रही हैं की, सुशांत सिंह राजपूत के मरने से एक रात पहले एक पार्टी हुई थी, उस पार्टी में एक बड़े नेता का लड़का भी मजूद था.

हालाँकि बड़े नेता कौन था और बेटे का नाम मीडिया में सार्वजनिक नहीं किया गया हैं. आपको बता दे की VITAL 3.0 के 1,000 अतिरिक्त GOQii फिटनेस बैंड को अक्षय कुमार पुलिस कर्मचारियों को बाँट रहें हैं. इस सिलसिले अक्षय कुमार, आदित्य ठाकरे, पर्यावरण मंत्री और मुंबई के पुलिस कमिश्नर के बीच एक मुलाकात हुई हैं.

बताया जा रहा है की, इसी मुलाक़ात के दौरान सुशांत सिंह राजपूत के केस को CBI को सौंपने की बात की गयी और इस केस को CBI को न सौंपने का फैसला किया गया. जिसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने आधिकारिक तौर भी इस बात को माना की हम सुशांत के केस को CBI को नहीं सौंप रहे.

उधर बिहार पुलिस का कहना हैं की, मुंबई पुलिस हमारा किसी भी प्रकार से इस केस में सहयोग नहीं कर रही. हॉस्पिटल जाने के बाद सुशांत सिंह राजपूत की पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी देने से इंकार कर दिया. आपको बता दे की बिहार पुलिस इस केस में तब एक्टिव हुई जब सुशांत के पिता केके सिंह ने एफआईआर में रिया को सुशांत की मौत का जिम्मेदार ठहराया.

आपको बता दे की मीडिया में दावा किया गया हैं की, सुशांत सिंह राजपूत के घर मौत की एक रात पहले पार्टी हुई थी. पार्टी में एक बड़े राजनेता का बेटा मजूद था और दोनों के बीच जमकर बहस भी हुई. जिसके बाद पार्टी ख़त्म हो गयी सब अपने-अपने घर चले गए. CCTV खराब होने के चलते न तो किसी को यह पता है की पार्टी में कौन-कौन मजूद था और न ही यह पता है बहस किस वजह से हुई. अगर कानूनी भाषा में कहे तो किसी के पास सबूत नहीं कोर्ट में साबित करने को.

इसके बावजूद सुशांत सिंह राजपूत के पिता ने धारा 341 और 342 (गलत तरीके से रोकना या बंधक बनाना), 380 (चोरी), 406 (भरोसा तोड़ना), 420 (धोखाधड़ी) और 306 (खुदकुशी के लिए उकसाना) जैसे मामलों के तहत रिया के खिलाफ मामला दर्ज़ करवा दिया हैं.

Spread the love

1 thought on “आदित्य ठाकरे ने ठुकराई सुशांत सिंह राजपूत पर CBI जाँच की मांग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *