kangana-ranaut-meets-governor-koshyari-in-mumbai-pic

इस ख़ास वजह से कंगना रनौत ने की महाराष्ट्र के राज्यपाल से मुलाकात

खबरों का विश्लेषण

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के साथ हुई कंगना रनौत की मुलाकात मीडिया में चर्चा का विषय बनी हुई है. राज्यपाल के साथ हुई मुलाकात के बाद कंगना रनौत ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा की, “वे (राज्यपाल) यहां के गार्जियन हैं. मेरा पॉलिटिक्स से लेना-देना नहीं है. मेरे साथ अभद्र व्यवहार हुआ है. गवर्नर साहब ने बेटी की तरह मेरी बात सुनी. मुझे विश्वास है कि मुझे न्याय मिलेगा.”

आपको बता दें की कुछ दिन पहले ही कंगना रनौत की माँ ने बयान देते हुए कहा था की, उनका परिवार कांग्रेस का समर्थक रहा हैं. लेकिन जो व्यवहार उनकी बेटी के साथ हुआ है, उसके बाद वह चुनाव में बीजेपी का समर्थन करेंगे. यही नहीं कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो कंगना 2024 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी का दामन भी धाम सकती हैं.

ऐसे में उनकी महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के साथ मुलाकात के कुछ ख़ास मायने निकाले जा रहे हैं. जैसा की आप सब जानते हैं की, शिवसेना द्वारा कंगना रनौत को मिली धमकियों के बाद अमित शाह द्वारा कंगना को ‘वाई श्रेणी’ की सुरक्षा प्रदान की गयी थी और इसके पश्चात हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी कंगना के पक्ष में बयान दिया था.

इसके इलावा शुक्रवार के दिन केंद्रीय मंत्री और आरपीआई अध्यक्ष रामदास अठावले ने भी कंगना के साथ मुलाक़ात करके मीडिया को बयान देते हुए कहा था की, “कंगना के साथ अन्याय हुआ और महाराष्ट्र सरकार ने प्रतिशोध में काम किया है. कंगना को जितना भी नुकसान हुआ है उसकी भरपाई करनी चाहिए. अगर कंगना हमारी पार्टी में आएंगी तो उन्होंने कुछ खास फायदा नहीं होगा, लेकिन अगर वो बीजेपी में शामिल होती हैं तो उनको राज्ससभा की सीट मिल सकती है.”

इन सब बयानों के बीच में संजय राउत ने भी बयान देते हुए कहा है की, “ये दुखद है कि, बीजेपी कंगना रनौत के समर्थन में खड़ी हो रही है.” इस बयान पर कंगना ने पलटवार करते हुए कहा की, “शिवसेना क्या चाहती है कि, बीजेपी! गुंडों से कंगना रनौत को पिटने दे. क्या शिवसेना की मंशा ये है कि, गुंडे मुझे सरेआम लिंच कर दें.”

Spread the love
  • 193
    Shares
  • 193
    Shares

1 thought on “इस ख़ास वजह से कंगना रनौत ने की महाराष्ट्र के राज्यपाल से मुलाकात

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *