atal-tunnel-witnesses-three-accidents-within-24-hours-pic

सेल्फी लेते हुए अटल टनल में 24 घंटे में हुए 3 बड़े हादसे

खबरों का विश्लेषण

हमारे देश का दुर्भाग्य यह है की लोगों को अपने जीवन से ज्यादा सोशल मीडिया पर कमैंट्स और लाइक पाने ज्यादा महत्वपूर्ण लगते हैं. अभी हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में बने 9.02 किलोमीटर लंबे अटल टनल के उद्घाटन को 24 घंटे भी नहीं हुए की लोगों ने इसे पिकनिक स्पॉट बना दिया.

अटल टनल पहाड़ों बीच में से बनाई गयी एक सुरंग हैं, इस सुरंग में भूंकप और हर प्रकार के मौसम को झेल सकने की क्षमता है. लेकिन इसको लेकर कुछ नियम भी बनाये गए हैं. परन्तु भारत में लोग नियम तभी मानते हैं जब आगे कोई ट्रैफिक पुलिस वाला खड़ा हो. अन्यथा भारत की मान्यता के अनुसार नियम तो होते ही तोड़ने के लिए हैं, फिर चाहे उसके चलते अपनी या किसी की जान ही क्यों न चली जाये.

सीमा सड़क संगठन द्वारा इस अटल टनल को बनाया गया हैं और इसके उद्घाटन के बाद राज्य सरकार ने यहाँ पुलिस तैनात न करने का फैसला किया. लेकिन 24 घंटे में हुए तीन हादसों के बाद राज्य सरकार को मजबूरी में यहाँ भी ट्रैफिक पुलिस को तैनात करना पड़ा.

मीडिया से बातचीत करते हुए बीआरओ के चीफ इंजीनियर ने ब्रिगेडियर केपी पुरुषोत्तम ने बताया की, “यातायात की आवाजाही को नियंत्रित करने के लिए बल प्रदान करने के लिए एक आधिकारिक संचार तीन जुलाई को मुख्यमंत्री कार्यालय और 3 अक्टूबर को स्थानीय प्रशासन को भेजा गया था. प्रधानमंत्री ने 3 अक्टूबर को टनल का उद्घाटन किया और उसके बाद एक दिन में तीन हादसे हुए. टनल के अंदर पर्यटक और वाहन चालक ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं. सीसीटीवी से पता चला है कि वाहन चालकों ने सेल्फी लेने के लिए टनल के अंदर अपनी गाड़ियों को रोक दिया, जबकि टनल के अंदर किसी को गाड़ी खड़ी करने की इजाजत नहीं है.”

अब राज्य सरकार अटल टनल के अंदर ट्रैफिक पुलिस और दमकल कर्मचारियों की तैनाती कर रही हैं. जबकि अगर लोग अपनी फूहड़बाज़ी न दिखाते हुए अपनी और दूसरों की जान जोखिम में न डालते तो इसकी जरूरत न पड़ती. सवाल फिर यही आता है की, क्या सोशल मीडिया पर मिलने वाले लाइक और कमेंट आपकी और दूसरों की जान से ज्यादा कीमती हैं?

Spread the love
  • 1.2K
    Shares
  • 1.2K
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *